तोरपा में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने कह ग़रीबों के अनाज की कालाबाज़ारी कर हेमंत सोरेन भर रहे हैं अपना तिजोरी

0
Whatsapp Image 2023 09 21 At 18.46.44
Spread the love

ग़रीबों के अनाज की कालाबाज़ारी कर हेमंत सोरेन भर रहे हैं अपना तिजोरी: बाबूलाल मरांडी

तोरपा:संकल्प यात्रा के तहत तोरपा में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने 2024 में नरेंद्र मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाने व झारखंड में भाजपा की सरकार बनाने का आह्वान करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने ग़रीबी को देखा है इसलिए वे ग़रीबों की चिंता करते हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री बनते ही बहनों के लिए शौचालय का निर्माण करवाया, गैस कनेक्शन दिया। और अब महिलाओं के लिए लोकसभा और विधानसभा में आरक्षण बिल लाकर बड़ा तोहफ़ा दिया है। इस बिल के तहत 33% बहनों को इसका लाभ मिलेगा। इससे पहले रक्षा बंधन में बहनों को गैस पर सब्सिडी का बड़ा तोहफ़ा दिया था। इस योजना के तहत 75 लाख नये बहनों को भी जोड़ा जाना है। जबकि कांग्रेस काल में पैरवी पर गैस कनेक्शन मिलता था। उन्होंने कहा कि मोदी जी बहनों के साथ साथ गाँव ग़रीब किसान के लिये भी छः हज़ार दिया है। प्रधानमंत्री मोदी जी ने विश्वकर्मा पूजा के दौरान कारीगरों के लिए विश्वकर्मा योजना लॉंच किया। इसके तहत 13 हज़ार करोड़ के बजट का भी प्रावधान किया है।

  उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए हेमंत सरकार पर जमकर हमला बोला, उन्होंने कहा कि कांग्रेस जेएमएम झारखंड को लूटने का कार्य किया है। कांग्रेस जब जब देश या प्रदेशों में शासन किया है वे लूटने का कार्य किया है। झारखंड भी इसका उदाहरण रहा है। उन्होंने कहा कि झारखंड में क़ानून व्यवस्था चौपट हो गई है। हेमंत सरकार में अपराधियों में क़ानून का डर समाप्त हो गया है। अपराधमुक्त प्रदेश बनाना है। झारखंड में प्रत्येक दिन पाँच से ज़्यादा हत्या, दुष्कर्म, अपहरण की घटना से झारखंड भयभीत है। उन्होंने कहा कि जेएमएम कांग्रेस की सरकार में अपराध सर चढ़ कर बोलने लगता है। हेमंत सरकार में जिस पुलिस को क़ानून व्यवस्था ठीक करना था वे हेमंत सरकार के इशारे पर वसूली में व्यस्त है। बालू गाड़ियों से वसूली में लगे हैं। जबकि दूसरे प्रदेशों में अवैध तरीक़े से बालू की ढुलाई हो रही है। 

उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार में कोयला, बालू, पत्थर, ज़मीन की लूट मची है। अंचल ब्लॉक और ज़िला के सरकारी कार्यालयों में बिना पैसे दिये कोई काम नहीं होता है। जन्म प्रमाण पत्र से लेकर मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने में भी पैसे देना पड़ रहा है। राशन कार्ड में नाम जुड़वाने के लिए घुस देना पड़ता है। सरकारी पदाधिकारियों को मोबाइल रिचार्ज की तरह पद पर बने रहने के लिए हेमंत सरकार को रिचार्ज करना होता है। हेमंत सरकार के भ्रष्ट अधिकारी निर्लज होकर पैसे माँगते हैं। 

 उन्होंने कहा कि ईडी के नोटिस से हेमंत भाग रहे हैं। हेमंत सोरेन को जेल जाने से डर लगने लगा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री गाँव ग़रीबों कि चिंता करते हैं किन्तु इंडी एलायंस परिवार और पैसे के लिए मोदी जी को रोकना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि कोविड के दौरान जब कल कारख़ाने बंद हो गये तब मोदी जी ने अस्सी करोड़ लोगों को अनाज उपलब्ध करवाया इतना ही नहीं जनधन खाते में सीधे पैसे भी दिया। प्रधानमंत्री ग़रीबों के लिए अनाज भेज रहे हैं और हेमंत सरकार अनाजों की कालाबाज़ारी करवा रही है, ऐसे सरकार को उखाड़ फेंकना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from EDPA NEWS

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading