भारत की खुदरा मुद्रास्फीति दिसंबर 2023 में चार महीने के उच्चतम स्तर 5.69 फीसदी

0
66e31df3dee041de051f115bcb4dfeb8d4897b762ee1d8466b3beb6c20f251c1
Spread the love

नई दिल्‍ली. भारत की खुदरा मुद्रास्फीति दिसंबर 2023 में चार महीने के उच्चतम स्तर 5.69 फीसदी पर पहुंच गई. नवंबर में यह 5.55 फीसदी थी. दिसंबर, 2022 में खुदरा महंगाई दर 5.72 फीसदी रही थी.

खुदरा मुद्रास्फीति में उछाल खाद्य पदार्थों की कीमतों में बढ़ोतरी के कारण आया है. दिसंबर, 2023 में खाद्य मुद्रास्फीति 9.53 फीसदी पर पहुंची गई. वहीं, इससे एक साल पहले यह 4.19 फीसदी थी. नवंबर 2023 में खाद्य मुद्रास्‍फीति 8.7 फीसदी थी.

शुक्रवार को सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय की ओर से महंगाई से जुड़े आंकड़े जारी किए गए. सरकार के आंकड़ों के मुताबिक देश का औद्योगिक उत्पादन नवंबर में 2.4 प्रतिशत बढ़ा. खास बात यह है कि खुदरा महंगाई दर दिसंबर महीने में भी भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के 2 से 6 प्रतिशत के सहिष्णुता बैंड के भीतर बनी हुई है.

इस वजह से बढ़ी रिटेल इंफ्लेशन
फल-सब्जी, दालों, मसालों, चीनी और अनाज की कीमतों में उछाल के चलते दिसंबर में खाद्य महंगाई में इजाफा हुआ. इसी वजह से रिटेल महंगाई दर उछल कर दिसंबर 5.69% पर पहुंच गई है. यह महंगाई का 4 महीने का उच्चतम स्तर है. सिंतबर में महंगाई दर 5.02 फीसदी रही थी. अक्‍टूबर में यह 4.87 फीसदी पर आ गई तो नवंबर में रिटेल महंगाई दर 5.55 फीसदी रही थी.

नहीं ‘गल’ रही दाल
दिसंबर महीने में दाल की महंगाई दर में इजाफा हुआ और ये बढ़कर 20.73 फीसदी पर जा पहुंची है. नवंबर महीने में यह 20.23 फीसदी रही थी. इसी तरह सब्जियों की महंगाई दर भी बढ़कर 27.64 फीसदी पर जा पहुंची जो इससे पिछले महीने 17.70 फीसदी थी. अनाज और उससे जुड़े प्रोडक्ट्स की महंगाई दर में मामूली कमी आई है और ये 9.93 फीसदी रही है. फलों की महंगाई दर दिसंबर 2023 में 11.14 फीसदी रही है, जो नवंबर में 10.95 फीसदी रही थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from EDPA NEWS

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading