मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के पूर्व प्रधान सचिव भ्रष्टाचार के गंभीर आरोपों में घिरे राजीव अरुण एक्का को मिलेगी प्रोन्नति, तैयारी में सरकार

0
Whatsapp Image 2023 10 16 At 18.56.59
Spread the love

भ्रष्टाचार के गंभीर आरोपों में घिरे राजीव अरुण एक्का को मिलेगी प्रोन्नति, तैयारी में सरकार

रांची:भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के पूर्व प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का को मुख्य सचिव रैंक में प्रोन्नति देने की सुगसुहाट लहो रही है। फाइल तैयार की जा रही है। विभाग के अनुसार 1994 बैच के आईएएस अधिकारी राजीव अरुण एक्का सीएम हेमंत सोरेन के प्रधान सचिव रहे हैं। प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी द्वारा राजीव अरुण एक्का का निजी कार्यालय में सीएमओ की फाइल निपटाने का वीडियो जारी किए जाने के बाद उन्हें सीएम के प्रधान सचिव के पद से हटा दिया गया था।

पंचायती राज विभाग में हैं प्रधान सचिव-
मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव के पद से हटाए जाने के बाद राजीव अरुण एक्का को पंचायती राज विभाग में प्रधान सचिव बनाया गया। साथ ही उनको एससी, एसटी, अल्पसंख्यक और पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग का भी अतिरिक्त प्रभार दिया गया। विदित है कि राजीव अरुण एक्का पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं। राज्य में मनरेगा, खनन और जमीन घोटाला केस की जांच कर रही ईडी ने राज्य सरकार को राजीव अरुण एक्का पर कार्रवाई की अनुशंसा को लेकर जो चिट्ठी लिखी है उसमें ऐसे साक्ष्यों का जिक्र है । जिसके आधार पर ईडी का कहना है कि उन्होंने विशाल चौधरी के साथ मिलकर टेंडर प्रक्रियाओं में गड़बड़ी कर अवैध कमाई की। ईडी के अनुसार राजीव अरुण एक्का ने आईएएस और आईपीएस अधिकारियों की पैसे वाले स्थान स्थांतरित और पोस्टिंग के एवज में भी खूब नोट छापे हैं।

केंद्र सरकार के कार्मिक मंत्रालय ने मांगी हैं रिक्तियां-
केंद्र सरकार के कार्मिक मंत्रालय ने सीएस सह मुख्य सचिव रैंक पर प्रमोशन के लिए रिक्तियां मांगी गई है। बताया जा रहा है कि जैसे ही रिक्तियां जारी की जाएंगी। वैसे ही राज्य सरकार की ओर से डीपीसी की बैठक की जाएगी। जिसमें राजीव अरुण एक्का को प्रमोशन दिए जाने पर चर्चा होगी। बताया जा रहा है कि यह प्रमोशन 1 जनवरी 2024 से प्रभावीहो जाएगा। वहीं, राजीव अरुण एक्का 31 मार्च 2024 को रिटायर हो जाएंगे। सरकार के करीब लोगों की मानें तो राजीव अरुण एक्का 3 महीने ही मुख्य सचिव रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from EDPA NEWS

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading